[PDF] Antima(अंतिमा) by Manav Kaul PDF Book Download In Hindi

Antima PDF in Hindi by Manav Kaul: Hello friends, In this post, we will provide Antima PDF in English and Hindi language. this book is written by Manav Kaul. So you can download it at the link given below and enjoy it!

Antima Book PDF (अंतिमा) Book Summary

कभी लगता था कि लंबी यात्राओं के लिए मेरे पैरों को अभी कई और साल का संयम चाहिए। वह एक उम्र होगी जिसमें किसी लंबी यात्रा पर निकला जाएगा। इसलिए अब तक मैं छोटी यात्राओँ ही करता रहा था। यूँ किन्हीं छोटी यात्राओं के बीच मैं भटक गया था और मुझे लगने लगा था कि यह छोटी यात्रा मेरे भटकने की वजह से एक लंबी यात्रा में तब्दील हो सकती है।

पर इस उत्सुकता के आते ही अगले मोड़ पर ही मुझे उस यात्रा के अंत का रास्ता मिल जाता और मैं फिर उपन्यास के बजाय एक कहानी लेकर घर आ जाता। हर कहानी, उपन्यास हो जाने का सपना अपने भीतर पाले रहती है। तभी इस महामारी ने सारे बाहर को रोक दिया और सारा भीतर बिखरने लगा। हम तैयार नहीं थे और किसी भी तरह की तैयारी काम नहीं आ रही थी।

जब हमारे, एक तरीक़े के इंतज़ार ने दम तोड़ दिया और इस महामारी को हमने जीने का हिस्सा मान लिया तब मैंने ख़ुद को संयम के दरवाज़े के सामने खड़ा पाया। इस बार भटकने के सारे रास्ते बंद थे। इस बार छोटी यात्रा में लंबी यात्रा का छलावा भी नहीं था।

इस बार भीतर घने जंगल का विस्तार था और उस जंगल में हिरन के दिखते रहने का सुख था। मैंने बिना झिझके संयम का दरवाज़ा खटखटाया और ‘अंतिमा’ ने अपने खंडहर का दरवाज़ा मेरे लिए खोल दिया।

At that point this pandemic halted all the outside and the entire started to break down. We were not prepared and any sort of arrangement was not working. At the point when our Waiting for a route ceased to exist and we thought about this scourge a piece of living, at that point I ended up remaining before the entryway of balance.

This time all the methods of meandering were shut. It is time the short excursion was not a reason for the long excursion. This time there was an extension of the thick woodland

About the Author

Manav Kaul, brought into the world in Baramulla, Kashmir, has been a necessary piece of the movie world, acting, dramatization coordinating and writing in Mumbai throughout the previous 20 years through childhood in Hoshangabad (MP). Stunning the universe of Hindi performance center with each new play.

Antima Book PDF in Hindi Details (अंतिमा )

Book NameAntima । अंतिमा
Total Pages224
AuthorManav Kaul
PublisherHind Yugm
LanguageEnglish and English

Antima Hindi PDF by Manav Kaul Download Link

Conclusion: Thank you for coming to this website lyricspay.com. We assure you that You will love the Antima PDF by Manav Kaul. Please Share with Your Friends, Colleagues, and Classmates. IF you find any inappropriate, you can tell me through the comment box below. So I will try to get better every time. For More Hindi, English books pdf, visit our website regularly.

Disclaimer: Our aim to give the downloading links of important books is only to help the students who do not have funds to purchase costly books. We are not the maker of this book and we have the right nor distributed neither scan.